दुनिया के नंबर 1 टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच को लेकर मचा बवाल, ऑस्ट्रेलियाई पीएम ने दी चेतावनी


Australian Open 2022: दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच (Novak Djokovic) को टेनिस का प्रतिष्ठित टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन (Australian Open) खेलने के लिए ऑस्ट्रेलिया पहुंचना है. पिछले दिनों उन्होंने बताया कि मेडिकल कारणों की वजह से उन्होंने कोविड-19 वैक्सीन नहीं लगवाई है. लेकिन अब ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरीसन (Scott Morrison) ने जोकोविच को लेकर एक बड़ा बयान दिया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर जोकोविच मेडिकल कारणों को साबित करने में नाकाम रहे, तो उन्हें ऑस्ट्रेलिया में एंट्री नहीं दी जाएगी. इसे लेकर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है.

जोकोविच ने अब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं लगवाई है. सर्वश्रेष्ठ टेनिस खिलाड़ी और 9 बार के ऑस्ट्रेलियाई ओपन चैंपियन नोवाक जोकोविच ने क्रोएशिया से ऑस्ट्रेलिया रवाना होने से पहले बताया कि उन्हें चिकित्सा कारणों की वजह से वैक्सीन से छूट मिली है. इससे पहले टेनिस ऑस्ट्रेलिया और विक्टोरियन स्टेट गवर्नमेंट की तरफ से कहा गया था कि जोकोविच ने 26 और आवेदकों के साथ बिना वैक्सीन के ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश करने के लिए एप्लीकेशन दी है. 

IND vs SA: शार्दुल ठाकुर ने दक्षिण अफ्रीका के 7 विकेट चटकाकर अश्विन और हरभजन का रिकॉर्ड तोड़ा ! देखें आंकड़े

अब ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री के बयान ने मामले को गरमा दिया है. प्रधानमंत्री ने साफ कहा हैं कि जोकोविच के लिए कोई स्पेशल नियम नही है. अगर वो साबित नही पाए कि चिकित्सा कारणों की वजह से ही उनको छूट मिली है, तो उनको ऑस्ट्रेलिया में एंट्री नहीं दी जाएगी और अगली फ्लाइट से अपने देश वापस भेज दिया जाएगा. इसेेे लेकर दुनिया भर चर्चा शुरू हो गई है. दरअसल जोकोविच पिछले साल वैक्सीन का विरोध भी कर चुकेे हैं. इसलिए मामला ज्यादा तूल पकड़ रहा है.

Viral Video: जब मैदान पर भिड़ गए Jasprit Bumrah और Marco Jansen, अंपायर ने किया बीच-बचाव

गौरतलब है कि इस वक्त ऑस्ट्रेलिया में कोविड-19 संक्रमण तेजी से फैल रहा है और सरकार इस पर नियंत्रण के लिए सख्त पाबंदी लगा रही है. सरकार की कोशिश है कि बाहर से केवल वही लोग देश में एंट्री कर पाएं, जो पूरी तरह वैक्सीनेटेड हैं. इसी वजह से 17 जनवरी से शुरू होने वाले ‘ऑस्ट्रेलियन ओपन’ में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों के लिए कोरोना की वैक्सीन लेना अनिवार्य कर दिया गया है. जो खिलाड़ी चिकित्सा कारणों की वजह से ऐसा नहीं कर सके, उन्हें इस नियम से छूट दी जाएगी.



Source link

Recommended For You

About the Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.