142 साल पहले आज ही के दिन लगी थी टेस्ट क्रिकेट की पहली हैट्रिक, इस खिलाड़ी के नाम है रिकॉर्ड


Throwback Cricket: 2 जनवरी 1879 यानी आज से ठीक 142 साल टेस्ट क्रिकेट की पहली हैट्रिक लगी थी. ऑस्ट्रेलिया के फ्रेड स्पोफोर्थ (Fred Spofforth) के नाम यह ऐतिहासिक रिकॉर्ड दर्ज है. खास बात यह भी है कि यह हैट्रिक क्रिकेट इतिहास के तीसरे ही टेस्ट में लग गई थी. क्रिकेट की बड़ी यादों से जुड़े इस खास पल से रूबरू करने के लिए हम आपको 142 साल पहले हुए इंग्लैंड के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर लेकर चल रहे हैं.

19वीं सदी में क्रिकेट खेलने वाले महज 2 ही देश थे. एक इंग्लैंड और दूसरा ऑस्ट्रेलिया. उस दौर में केवल टेस्ट क्रिकेट ही खेला जाता था. ज्यादातर क्रिकेट भी घरेलू ही होते थे. यानी इंग्लैंड की काउंटी में आपस में मैच खेले जाते थे. 1876-77 में क्रिकेट इतिहास का पहली आधिकारिक टेस्ट सीरीज इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली गयी. 2 मैचों की इस सीरीज में एक मैच इंग्लैंड ने तो दूसरा ऑस्ट्रेलिया ने जीता था. ऑस्ट्रेलिया में खेली गई इस सीरीज के ठीक 2 साल बाद एक बार फिर इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया. 1878-79 में हुए इस दौरे में एकमात्र टेस्ट मैच खेला जाना था.

तारीख 2 जनवरी 1879 थी और जगह मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड था. इंग्लैंड ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी का विकल्प चुना. मैच के पहले ही ओवर में फ्रेड ने इंग्लिश ओपनर को पवेलियन भेज दिया. यहां से इंग्लैंड के बल्लेबाज ताश के पत्तों की तरह बिखरने लगे. हालत यह हो गई कि 14 रन पर ही टीम चार विकेट खो चुकी थी. यहां से मध्यक्रम के बल्लबाजों ने थोड़ा समय निकालना शुरू किया. लंबी देर तक विकेट पर खड़े रहकर कप्तान लॉर्ड हैरिस और वरनॉन रॉयल ने 26 रन तक स्कोर पहुंचाया ही था कि फ्रेड ने वरनॉन को चलता कर दिया. फ्रेड यहीं नहीं रूके उन्होंने अगली 2 गेंदों पर 2 और शिकार किए. इस तरह क्रिकेट इतिहास में पहली हैट्रिक फ्रेड स्पोफोर्थ के नाम दर्ज हो गई.

इस हैट्रिक के बाद इंग्लैंड 26 रन पर अपने 7 विकेट खो चुका था. कप्तान हैरिस और निचले क्रम के बल्लेबाज चार्ली ने जैसे-तैसे पहली पारी में इंग्लैंड का स्कोर 113 रन पहुंचाया.

इंग्लैंड की टीम इस टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के आगे पूरी तरह नतमस्तक हो गई थी. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 256 रन ठोंक दिए थे. वहीं इंग्लैंड के बल्लेबाज दूसरी पारी भी कुछ खास नहीं कर सके थे और 160 रन पर ही ऑल आउट हो गए थे. चौथी पारी में ऑस्ट्रेलिया को महज 18 रन का लक्ष्य मिला था, जिसे कंगारूओं ने बिना विकेट खोए ही हासिल कर लिया था. इस तरह फ्रेड स्पोफोर्थ की हैट्रिक ने क्रिकेट का यह तीसरा टेस्ट ऑस्ट्रलिया के पक्ष में कर दिया था. स्पोफोर्थ ने इस टेस्ट में 13 विकेट लिए थे.

यह भी पढ़ें..

GoodBye 2021: यादगार रहेगा साल 2021, क्रिकेट इतिहास में दूसरी बार भारत ने हासिल किया यह मुकाम

Watch: पुजारा को पकड़-पकड़कर नचाते दिखे अश्विन और सिराज, सेंचुरियन में कुछ ऐसे मना जीत का जश्न





Source link

Recommended For You

About the Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *