क्या मेलबर्न टेस्ट पर मंडरा रहा कोविड का खतरा? खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए लागू किए सख्त नियम


AUS vs ENG, 3rd Test: ऑस्ट्रेलिया (AUS) और इंग्लैंड (ENG) के बीच एशेज सीरीज (Ashes) का तीसरा मुकाबला 26 दिसंबर से मेलबर्न में खेला जाएगा. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (Cricket Australia) के मुख्य कार्यकारी निक हॉकली (Nick Hockley) ने मंगलवार को कहा कि कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रोटोकॉल के स्तर को बढ़ा दिया है. अब खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर ज्यादा एहतियात बरती जाएगी. ऑस्ट्रेलियाई कप्तान पैट कमिंस (Pat Cummins) एडिलेड टेस्ट से पहले एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए थे, जिसकी वजह से वह दूसरा टेस्ट मैच नहीं खेल पाए थे. अब बोर्ड ने सख्त नियम लागू कर दिए हैं. 

हॉकली ने मंगलवार को बताया कि तीसरे टेस्ट से पहले कोविड-19 प्रोटोकॉल लेवल को 3 से बढ़ाकर 4 कर दिया गया है. आसान भाषा में कहें तो अब ज्यादा सख्त नियम खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए अपनाए जाएंगे. दोनों टीमों के बीच तीसरा टेस्ट मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) में खेला जाएगा, जबकि एशेज सीरीज का चौथा मैच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) और पांचवां मैच होबार्ट में खेला जाएगा. 

ऑस्ट्रेलिया के अलग-अलग राज्यों में कोविड-19 की स्थिति अलग-अलग तरह देखी जा रही है. ब्रिस्बेन और एडिलेड टेस्ट में दोनों टीमें बिना किसी भय से खेली थीं, क्योंकि तब कोरोना के हालात नियंत्रण में थे. जबकि विक्टोरिया और न्यू साउथ वेल्स में प्रतिदिन हजारों कोरोना के मामले मिल रहे हैं. इसलिए प्रोटोकॉल के स्तर में वृद्धि की गई है. हॉकली ने कहा, “पैट कमिंस की स्थिति से पहले भी प्रोटोकॉल के कई स्तर थे. मेलबर्न और सिडनी में ब्रिस्बेन व एडिलेड की तुलना में जोखिम के ज्यादा चांस हैं, इसलिए यहां प्रोटोकॉल के स्तर को बढ़ाया गया है.”



Source link

Recommended For You

About the Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *